You are currently viewing Car Loan in Hindi | Car Finance kaise Hota Hai | कार लोन कैसे लें? Apply for Car Loan
car finance kaise hota hai

Car Loan in Hindi | Car Finance kaise Hota Hai | कार लोन कैसे लें? Apply for Car Loan

Car Loan in Hindi: आज कल हर कोई यही चाहता है, कि उसके पास ब्रांडेड कार जरूर हो परंतु कार लोन हर किसी के बस में नहीं होता है। अगर आप कर लेना चाहते हैं, तो आप उसके लिए लोन ले सकते हैं। इसके बावजूद अगर आपके पास पुरानी गाड़ी है, और आपको पैसों की जरूरत पड़ जाती है, तो आप पुरानी गाड़ी पर भी लोन ले सकते हैं। आपको दोनों प्रकार के ही लोन उपलब्ध होते हैं। आइए हम आपको अपने इस लेख में पूर्ण जानकारी देते हैं।  

कार के लिए लोन | Bajaj Finance Car Loan

कार के लिए लोन कंपनी नई और सेकंड हैंड दोनों कार के लिए लोन देती हैं। बस फर्क इतना होता है, कि दोनों की ब्याज दरें अलग-अलग होती है। नई कार के लिए ब्याज दर 9.25-13.75 फीसदी कम होता है, जबकि पुरानी कारों पर ब्याज दर 12.50 – 17.50 फीसदी तक होता है।

कार के लिए कौन लोन ले सकता है?

कार के लिए लोन हर व्यक्ति ले सकता है, चाहे वह खुद का बिजनेस करता हो, चाहे वह नौकरी करता हो दोनों ही प्रकार के लोगों को लोन बहुत ही आराम से मिल जाता है।

Car Loan in Hindi

Car Loan के लिए जरूरी दस्तावेज

  • पहचान प्रमाण पत्र( पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट इत्यादि)
  • वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट जैसे एड्रेस प्रूफ
  • फोटोग्राफ
  • कार के पूरे कागज
  • 3 महीने की सैलरी स्लिप, 6 महीने का बैंक स्टेटमेंट, आयकर रिटर्न का प्रमाण पत्र
  • कार के इंश्योरेंस की कॉपी और ड्राइविंग लाइसेंस

हाइपोथेकेशन होना अनिवार्य है?

इस स्थिति में जब आप घर के लिए लोन लेते हैं, और कंपनी के पास कोई चीज गिरवी रखते हैं, तो उनके पास इस चीज का अधिकार होता है, कि अगर आप कर्ज नहीं चुका सकते हैं, तो वह आपकी संपत्ति को जब्त कर सकती हैं। अगर आप महीने की किस्त नहीं देते हैं, तो वह आपकी कार भी उठा कर ले जा सकते हैं।

यह रजिस्ट्रेशन प्रोसेस का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है। अगर आप एक बार लोन चुका देंगे तो, रजिस्ट्रेशन पेपर से लोन देने वाली कंपनी का हाईपोंथेकेशन को हटा सकते हैं।

जब लोन पूरा हो जाता है, तब आप यह सब ध्यान रखें कि कंपनी से एनओसी जरूर ले लें, इसके बाद इसे इंश्योरेंस कंपनी को देकर नए मालिक के नाम से इंश्योरेंस पेपर जारी करवा दिए जाते हैं।

कार लोन की रकम कितनी होती है? | Car Loan EMI Calculator

लोन की राशि कितनी होगी यह आपकी उम्र और आमदनी पर निर्भर करता है, या यह कंपनी पर निर्भर करता है, कि वह आपको कितना लोन लेंगे पर यह निश्चित है, कि आप की सालाना कमाई का 4 से 6 गुना तक कार लोन आपको आराम से मिल सकता है।

कार की कीमत का 80 से 90% तक का फाइनेंस हो जाता है, जबकि कुछ बैंक ऐसे भी होते हैं, जो 100% भी फाइनेंस कर देते हैं, जो शोरूम प्राइस ऑन रोड प्राइस भी हो सकता है।

इसके अलावा अगर आप सेकंड हैंड कार के लिए लोन लेते हैं, तो उसके लिए दोबारा रजिस्ट्रेशन में आने वाले खर्चे कवर नहीं होते हैं।

कार लोन की ब्याज दर कितनी होती है? | Car Loan Interest Rate

यह कंपनी पर निर्भर करता है, कुछ कंपनियां मार्जिनल कॉस्ट ऑफ एंड के अलावा कुछ एक्स्ट्रा भी चार्ज करती हैं। आमतौर पर इसे रेट फिक्स लोन कहते हैं, इसे चुकाना बहुत ही आसान होता है

इसी के साथ नई कार की जगह सेकंड हैंड कार लोन लेना थोड़ा महंगा होता है, ज्यादातर बैंक इस पर अधिक ब्याज चार्ज करते हैं।

कार लोन लेने में कौन-कौन से और अधिक खर्च होते हैं?

  • जब हम लोन अप्लाई करते हैं, तो उसके लिए प्रोसेसिंग फीस भी लगती है।
  • यह लोन अमाउंट का 0.4-1 फीसदी भी हो सकता है।
  • अगर समय से पहले लोग चुका देते हैं, तो इसके लिए बैंक फीस वसूलती है।
  • कुछ बैंक ऐसे भी होते हैं, जो 5 से 6 फ़ीसदी तक चार्ज लेते हैं, और कुछ बैंक ऐसे होते हैं, जो इसके लिए बिल्कुल भी चार्ज नहीं लेते।

क्या प्रीपेमेंट भी कर सकते हैं?

कुछ बैंक कार लोन चुकाने के लिए एक निर्धारित पार्ट पेमेंट की सुविधा भी रहते हैं। इसका मतलब यह होता है, कि अगर आपके पास पैसे हो आप लोन का एक हिस्सा चुका सकते हैं। इसके बावजूद भी कुछ बैंक इस पेमेंट पर चार्ज वसूल करते हैं, क्योंकि लोन लेने से 6 महीने के अंदर आप लोन का प्री पेमेंट नहीं कर सकते हैं।

क्या रीपेमेंट भी कर सकते हैं?  

कार लोन बैंक के द्वारा 1 से 7 साल के लिए दिया जाता है। अगर इसके बीच आप लोन वापस करना चाहते हैं, तो आप निर्धारित तारीख तय कर सकते हैं, और उस तारीख पर उस लोगों को वापस कर सकते हैं, जो आपके लिए भी सुविधाजनक हो सकता है और इसके लिए कोई भी एक्स्ट्रा चार्ज नहीं लगता है।

ध्यान रखने योग्य बातें

  • लोन लेते समय आपको लोन पर चुकाई जाने वाली ब्याज की गणना पहले से ही तय कर लेनी चाहिए।
  • अगर कार किसी व्यक्ति के नाम से खरीदी जा रही है, तो उसके लिए आय कर में किसी डेप्रिसिएशन पर छूट का दावा नहीं किया जा सकता है, क्योंकि का लोन पर कोई टैक्स बेनिफिट नहीं होता है।
  • अधिकतर बैंक मीडियम कार एसयूवी और एमयूवी फाइनेंस भी कर देते हैं, इसीलिए आपको लोन आवेदन करने से पहले यह चेक कर लेना चाहिए कि, बैंक किस कार के लिए कितना लोन आपको ऑफर कर रहा है।

 

निष्कर्ष

हमने इस लेख में आपको कार लोन लेने के बारे में पूर्ण जानकारी दी है। आशा करते हैं आपको यह लेख पसंद आया होगा। अगर आपको इस से संबंधित कोई भी जानकारी चाहिए तो, आप कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

This Post Has One Comment

Leave a Reply