You are currently viewing Haisiyat Praman Patra Kaise Banate Hai | हैसियत प्रमाण पत्र क्या होता है? यूपी हैसियत प्रमाण पत्र ऑनलाइन अप्लाई कैसे करें?

Haisiyat Praman Patra Kaise Banate Hai | हैसियत प्रमाण पत्र क्या होता है? यूपी हैसियत प्रमाण पत्र ऑनलाइन अप्लाई कैसे करें?

Haisiyat Praman Patra: उत्तर प्रदेश राज्य में निवास करने वाले लोगों को मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के लोगों के लिए एक खुशखबरी दी हैं। राज्य में रहने लोग जिनको हैसियत प्रमाण पत्र बनवाना होगा, उसको अब राजस्व विभाग या अन्य किसी विभाग में जाने की जरूरत नही हैं। अब इस प्रमाण पत्र को व्यक्ति घर बैठे ही बनवा सकता हैं। इसके लिए राज्य सरकार की ई डिस्ट्रिक्ट की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होता हैं। जहां पर वो अपना हैसियत प्रमाण पत्र को बनवा सकता हैं। पहले की तुलना में अब आसानी से इस प्रमाण पत्र को बनवाया जा सकता हैं।

हैसियत प्रमाण पत्र क्या होता हैं? हैसियत प्रमाण पत्र के लिए आवेदन कैसे करें? इस प्रमाण पत्र को बनवाने के लिए कौन कौन से डॉक्यूमेंट की जरूरत होती हैं?

हैसियत प्रमाण पत्र क्या है?

यह एक प्रकार का पत्र होता है जिसमे किसी भी नागरिक के सम्पति की जानकारी को लिखा जाता हैं। जब नागरिक के संपति की जानकारी सरकारी विभाग में आ जाती हैं तो उसे यह प्रमाण पत्र दे दिया जाता हैं। इस प्रमाण पत्र का प्रयोग कुछ जगहों पर किया जाता हैं। पहले इस प्रमाण पत्र को बनवाने के लिए आपको राजस्व विभाग के ऑफिस में जाना होता था लेकिन अब आप प्रमाण पत्र को घर बैठे ही बनवा सकते हैं।

जमीन की रजिस्ट्री कैसे करवाएं? प्लाट-जमीन रजिस्ट्री के नियम 2022 | Plot Registry Process

Haisiyat Praman Patra का इस्तेमाल कहा किया जाता है?

Haisiyat Praman Patra का इस्तेमाल सरकारी कार्यों को करने के लिए किया जाता है उदाहरण के लिए कोई व्यक्ति सरकारी ठेका का टेंडर लेना चाहता हैं। किसी प्रकार का सरकारी टेंडर लेने के लिए या फिर कोई सरकारी कार्य को करने के लिए हैसियत प्रमाण पत्र का प्रयोग किया जाता हैं। टेंडर लेने के लिए ही सरकार इस प्रमाण पत्र को मागती हैं। जिसके बाद व्यक्ति उस टेंडर के लिए आवेदन कर सकता हैं। जो व्यक्ति बड़ी बड़ी बिल्डिंग, सड़क को बनाने वाले ठेकेदार, आदि कई जगहों पर सरकार इस प्रमाण पत्र की मांग करती हैं।

हैसियत प्रमाण पत्र से लाभ और कार्य

  • उत्तर प्रदेश राज्य में निवास करने वाले वो सभी नागरिक जो अपनी कुल संपत्ति का दस्तावेज चाहते हैं। वो सभी लोग हैसियत प्रमाण पत्र को बनवा सकते हैं।
  • राज्य सरकार ने इससे संबंधित सभी अधिकारियों को निर्देश दिए है की ऑनलाइन आवेदन करने वाले नागरिकों को 30 दिनों के अंदर हैसियत प्रमाण पत्र उपलब्ध करवा दिया जाएगा।
  • हैसियत प्रमाण पत्र को बनवाने के लिए राज्य सरकार ने शुल्क भी तय किया हैं। इस आवेदन पत्र को बनवाने के लिए आपको 100 रुपए का शुल्क देना होता हैं। यदि कोई व्यक्ति जनसेवा केंद्र के माध्यम से प्रमाण पत्र को बनवाना है तो उसको 120 रुपए खर्च करने होगे।

हैसियत प्रमाण पत्र को बनवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज

इस प्रमाण पत्र को बनवाने के लिए आपके पास निम्न दस्तावेज होनी चाहिए जिसकी मदद से आप हैसियत प्रमाण पत्र  को बनवा सकते हैं।

  • आवेदन करने वाले व्यक्ति का आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • निवास प्रमाण, बिजली बिल,
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • भूमि की फोटो
  • बैंक खाता संख्या
  • बैंक में रखी हुई सभी संपति की जानकारी

Atal Pension Yojana: मोदी सरकार की इस स्कीम में पति पत्नी को हर महीने मिलेगे 10,000, जाने कैसे?

हैसियत प्रमाण पत्र को ऑनलाइन कैसे बनवाए?

Haisiyat Praman Patra को बनवाने के लिए आपको नीचे दिए गए सभी स्टेप को फॉलो करना होगा। जिससे आप घर बैठे प्रमाण पत्र को बना लेंगे।

  • प्रमाण पत्र को बनाने के लिए सबसे पहले आपको राज्य सरकार की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने कई सारे ऑप्शन आ जाएंगे।
  • होम पेज पर आपको सिटीजन लॉगिन का एक ऑप्शन दिखाई पड़ेगा। इस ऑप्शन पर क्लिक कर दे।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
  • आपके दाई तरफ न्यू यूजर का रजिस्ट्रेशन करने का एक ऑप्शन दिखाई पड़ेगा।
  • जैसे ही आप इस ऑप्शन पर क्लिक करेंगे तो आवेंद फॉर्म खुल जाएगा।
  • इस फॉर्म में आवेदक को अपना नाम, जन्म तिथि, पता, पिन कोड, मोबाइल नंबर आदि जानकारी को फिल करना होगा।
  • सभी जानकारी को ध्यानपूर्वक भरने के बाद सबमिट वाले ऑप्शन पर क्लिक कर दें।
  • इसके बाद आपके मोबाइल नंबर पर एक पासवर्ड भेजा जाएगा। यह पासोर्ड पहली बार लॉगिन करने के लिए दिया जाता हैं।
  • लॉगिन करने के बाद आप पासवोर्ड को बदल सकते हैं।
  • अब आपको आवेदन भरे वाले ऑप्शन पर क्लिक करना होता हैं।
  • इसके बाद सेवा चयन करने का ऑप्शन दिया जाता है आप इसमें

हैसियत प्रमाण पत्र का चयन कर ले।

  • इस प्रकार आपका हैसियत प्रमाण पत्र का आवेदन फॉर्म खुल जाता हैं।
  • फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी को ध्यानपूर्वक भरें तथा जो भी डॉक्यूमेंट अपलोड करने हो उनको अपलोड कर दे।

सभी डॉक्यूमेंट को अपलोड करने के बाद सबमिट वाले बटन पर क्लिक कर दें। आवेदक अपना हैसियत प्रमाण पत्र का प्रिंट आउट निकाल कर रख ले।

गाड़ी चोरी हो जाए तो इंश्योरेंस क्लेम कैसे करें? How to claim insurance if bike theft, Vehicle Chori Complaint in Hindi

ऑनलाइन स्टेटस कैसे चेक करें?

ऑनलाइन आवेदन करने के पश्चात आपको एक रजिस्ट्रेशन नंबर मिल जाता है जिसको आप संबंधित वेबसाइट पर जाकर अपना प्रमाण पत्र का स्टेटस चेक कर सकते हैं।

निष्कर्ष

दोस्तों आज के इस लेख में हमने आपको हैसियत प्रमाण पत्र क्या होता है इस प्रमाण पत्र को कैसे बनवाएं। इसके बारे में सारी जानकारी दी है आशा करता हूं, यह जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी।

This Post Has 3 Comments

Leave a Reply